ताजा ख़बरे

अयोध्या - नहीं होगा 2 जुलाई को #रामलला के #मंदिर निर्माण का शुभारंभ


कोरोना के इस संकटकाल को देखते हुये 2 जुलाई 2020 अयोध्या में राम मंदिर के शिलान्यास  निरस्त कर दिया गया. 2 जुलाई का दिन इतिहास के रूप में दर्ज होना था लेकिन राम मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष चंपत राय ने घोषणा कि और कहा की देश में चल रही स्थिती को देखते हुये इस स्थगीत कर दिया गया.
GOOGLE
पहले जुलाई  को होना था शिलान्यास

पहले 2 जुलाई को देवताओं के चार महीनों तक शयन की देवशयनी एकादशी के मंगल मुहूर्त में भूमि पूजन होना था लेकिन देश की स्थीती को देखते हुये इस तारीख को टाल दिया गया.. वही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की उपस्थिति में दुनिया के सबसे चर्चित मंदिर के निर्माण की शुरुआत होनी थी. वही देश के प्रधानमंत्री अयोध्या से श्रीराम जन्मभूमि परिसर में स्थित मंदिर निर्माण स्थल से लाई गई पवित्र मिट्टी का पूजन 1 जुलाई को दिल्ली स्थित लोक कल्याण मार्ग में अपने आवास पर करना था. उसके बाद पूरे विधि विधान से होने वाले इस पूजन में प्रधानमंत्री के निर्वाचन क्षेत्र वाराणसी के भी पुरोहित होना तय था लेकिन तारीख को टल जाने के कारण के शिलान्यास  निरस्त कर दिया गया. अयोध्या में देवशयनी एकादशी के मंगल मुहूर्त में प्रात काल ही भूमिपूजन होना था. मॉनसून की फुहारों के बीच रामलला के जन्मस्थल पर आधुनिक मंदिर के निर्माण का श्रीगणेश किया जाना अभी रह गया.

संकटकाल को देखते हुए की जायेगी नयी तारीख की घोषणा

राम मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष चंपत राय की घोषणा के बाद अयोध्या में राम मंदिर के शिलान्यास  निरस्त कर दिया गया है. अध्यक्ष चंपत राय ने बताया की देश इस समय जवानों कि शाहदत मना रहा है और देश की सुरक्षा सबसे पहले है. कोरोना के इस संकटकाल को देखते हुये नयी तारीख कि घोषणा की जायेगी।

No comments