ताजा ख़बरे

दिल्ली - पीएम मोदी ने की मुख्यमंत्रियो के साथ बैठक,पीएम ने अनलॉक 2.0 के बारे में कि चर्चा

पीएम मोदी ने देश में दोबारा लॉकडाउन लगने की बातों को अफवाह बताया है। उन्होंने बुधवार को मुख्यमंत्रियों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान कहा कि अब अनलॉक 2.0 के बारे में सोचने की जरूरत है। पीएम मोदी ने कहा की अनलॉक 2.0 की तैयारियों में जुटने का समय आ गया है, पी एम ने कहा की हमें आर्थिक गतिविधियों को खोलने के साथ नुकसान को कम से कम करने के बारे में सोचना है। वही कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ने की सामूहिक प्रतिबद्धता हमें जीत की ओर ले जाएगी।
GOOGLE
पी एम ने कहा कि लॉकडाउन लगने की अफवाहों से हमे लड़ने की जरूरत

पीएम मोदी ने बुधवार को दूसरे चरण में उत्तर प्रदेश, बिहार, दिल्ली, के साथ और 15 राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक की। वही ये बैठक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए से हुई. बैठक में उन्होंने कहा कि अनलॉक 1.0 के बाद यह हमारी पहली मुलाकात है। अब 'अनलॉक-2' के बारे में और कोरोना संक्रमण को भी कम से कम रखने के तरीकों के बारे में सोचना होगा। पीएम मोदी ने कहा की कोरोना का फैलाव कुछ बड़े राज्यों और शहरों में बढ़ा है लेकीन फिर भी देशवासियों के संयम, प्रशासन की तत्परता और हमारे कोरोना योद्धाओं के समर्पण की वजह से हमने हालात को नियंत्रण से बाहर नहीं जाने दिया है।

 देश अब 'खुलने के चरण' में

प्रधानमंत्री ने कहा कि दोबारा लॉकडाउन लगने की अफवाहों से लड़ने की जरूरत है। देश अब खुलने के चरण में है। पीएम मोदी ने कहा, हमें अब अनलॉक के दूसरे चरण के बारे में सोचना होगा और यह भी विचार करना होगा कि हमारे लोगों को करोना जैसी महामारी से कम से कम नुकसान आशंका हो। उन्होंने ये भी कहा कि पाबंदियों में ढील, आर्थिक प्रदर्शन के संकेतक पटरी पर लौटने का संकेत दे रहे हैं। मुद्रास्फीति नियंत्रित है और राज्यों को बुनियादी ढांचे जैसे निर्माण संबंधी गतिविधियों को मजबूत करने के लिए कदम उठाने चाहिए।

GOOGLE
लोगो के जीवन की रक्षा पहली प्राथमिकता है

पीएम मोदी ने कहा कि बड़ी भीड़, सामाजिक दूरी के नियम का पालन नहीं करना, बड़ी संख्या में लोगों की रोजाना आवाजाही और कुछ शहरों में छोटे मकानों ने कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई को ‘अधिक चुनौतीपूर्ण’ बना दिया है। जीवन की रक्षा पहली प्राथमिकता होनी चाहिए। उन्होंने स्वास्थ्य संबंधी बुनियादी ढांचे के विस्तार की भी जरूरत बताई। संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ने का जिक्र करते हुए मोदी ने महामारी से निपटने के लिए कोविड-19 की जांच करने, रोगियों का पता लगाने और उन्हें अलग रखने की जरूरत रेखांकित की।

1 comment

Ms said...

सही है