ताजा ख़बरे

गृह मंत्री अमित शाह Live #interview

 गृह मंत्री अमित शाह लाइव करोना महामारी को लेकर दिया  जवाब





लद्दाख के सवाल पर अमित शाह ने कहा कि यह इंटरव्यू कोविड के बारे में जनता को जागरूक करने के लिए है। इस बारे में लोग जानकारी दे रहे हैं। मूल उद्देश्य से भटकना नहीं चाहताः अमित शाह


हम सब मोदी जी के अंडर काम कर रहे हैं और केजरीवाल जी का पूरा सहयोग हैः गृह मंत्री अमित शाह



दिल्ली में चेन ऑफ कमांड तय कर दिया गया है। डीएम को सेंटर में रखा गया है। इसके साथ ही दिल्ली सरकार और केंद्र सामंजस्य बनाकर काम करेगाः अमित शाह

कंटेनमेंट जोन को रीडिफाइन किया गया है। दिल्ली में कई कंटेनमेंट जोन बनाए जाएँगे। पूर दिल्ली कंटेनमेंट जोन नहीं होगी। इसपर जल्दी काम किया जाएगाः अमित शाह


बिना वेंटिलेटर के आईसीयू का रेट 34 हजार से 43 हजार रेट थे जो अब 13 हजार के आसपास हैः अमित शाह


दिल्ली सरकार ने भी व्यवस्था की है लेकिन हमने आगे की स्थिति को देखते हुए अडवांस में इंतजाम किएः गृह मंत्री


दिल्ली में 30 हजार बेड की व्यवस्था कर दी गई है। रेलवे कोच में 8 हजार बेड बने हैं। डीआरडीओ स्पेशल कोविड अस्पताल बना रहा हैः गृह मंत्री

पहले यह सुनिश्चित किया गया कि राज्यों में क्वारंटीन सेंटर और अस्पताल तैयार हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने श्रमिक स्पेशल ट्रेन चलाईं। 4594 ट्रेंनों से 63 लाख मजदूर अपने गंतव्य तक पहुंचेः अमित शाह



लॉकडाउन लगने के बाद पीएम और हमने मजदूरों के लिए रहने और खाने का प्रबंध करने को कहा था। 2.5 करोड़ लोगों के लिए इंतजाम किए गए। नैशनल डिजास्टर रिलीफ फंड से 11 हजार करोड़ राज्यों को दिए गएः अमित शाह

जून के दूसरे सप्ताह में दिल्ली डिप्टी सीएम ने बयान दिया कि 31 जुलाई तक दिल्ली में 5.5 लाख कोरोना के मामले होंगे, इससे दिल्ली की जनता में बहुत भय आया। दिल्ली सरकार ने कहा कि दिल्ली के बाहर के लोगों का दिल्ली में इलाज नहीं होगा, इस निर्णय को केंद्र सरकार ने बदला: अमित शाह


भारत सरकार ने कोरोना की लड़ाई ढंग से लड़ी है। विश्व के परिपेक्ष में हमारे आंकड़े बहुत अच्छे हैं। विश्वभर में सरकारें लड़ी हैं, भारत में केंद्र सरकार के साथ लोग और राज्य सरकारें भी लड़ीं। यह नरेंद्र मोदी के नेतृत्व का कमाल हैः अमित शाह


दिल्ली में 350 शवों का अंतिम संस्कार बाकी था। बुरी स्थिति थी। हमने फैसला किया कि दो दिन के अंदर धर्म के अनुसार अंतिम संस्कार किया जाए। आज कोई भी शव अंतिम संस्कार का इंतजार नहीं कर रहा। अब उसी दिन अंतिम संस्कार हो जाता हैः अमित शाह


दिल्ली में कोरोना पर अमित शाह ने कहा, राजधानी में कम्युनिटी ट्रांसमिशन की स्थिति नहीं। लोगों को घबराने की जरूरत नहीं है।

मनीष सिसोदिया के (जुलाई के आखिरी तक 5.5 लाख केस) बयान पर अमित शाह ने कहा कि एक कोऑर्डिनेशन मीटिंग बुलाई गई थी। कंटेनमेंट जोन में टेस्टिंग बढ़ाई गई।

दिल्ली में कोरोना के बारे में अमित शाह ने कहा कि होम आइसोलेशन के बाद मरीज की हालत बिगड़ जाती थी। इसलिए इसका विरोध किया गया। इसके बाद हमने टेस्टिंग बढ़ाने की सुविधा दी।


दिल्ली में कोविड से लड़ाई पर विवाद के बारे में अमित शाह ने कहा कि अरविंद केजरीवालको लूप में रखकर ही फैसला किया जाता है। कुछ राजनीतिक बयान भले ही सामने आए हों लेकिन फैसलों में कोई राजनीति नहीं होती।


इंदिरा जी के बाद क्या कोई कांग्रेस अध्यक्ष गांधी परिवार से बाहर का रहा है? वे किस लोकतंत्र की बात करते हैं? मैं कोरोना के समय में कोई राजनीति नहीं करता। आप पिछले 10 साल के मेरे ट्वीट देख लीजिए। हर 25 जून को मैं इमर्जेंसी पर ट्वीट करता थाः अमित शाह


मैं इस संकट के समय में राजनीति नहीं करता। मेरे पिछले 10 साल के ट्वीट उठाकर देख लीजिए। 25 जून को मैं इमर्जेंसी पर लिखता था। लेकिन समय के हिसाब से भाषा में बदलाव करना पड़ता है। लोगों के आज के परिदृश्य में सीख लेनी चाहिए और जागरूक रहना चाहिए।


अमित शाह ने कहा कि 'सरेंडर मोदी' जैसी बातें लिखने की प्रेरणा राहुल गांधी को चीन और पाकिस्तान से मिलती है।उन्होंने कहा कि सरकार भारत विरोधी प्रोपेगैंडा को रोकने में सक्षम है लेकिन यह दुखद है कि एक राजनीतिक पार्टी का पूर्व अध्यक्ष संकट के समय ऐसी ओछी राजनीति कर रहा है।


गृह मंत्री अमित शाह ने राहुल गांधी के बयानों पर कहा कि वह ओछी राजनीति कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि सरकार संसद में 1962 से लेकर आज तक दो दो हाथ करने को तैयार है।


अमित शाह बोले, राहुल गांधी कर रहे हैं छिछली राजनीति, चीन के मामले में हर मुद्दे पर बात करने को तैयार।

No comments