ताजा ख़बरे

कानपुर - बंदर को आजीवन कारावास की सजा बंदर की हरकतें सुनकर रह जाएंगे दंग


अब तक आपने इंसानों के गलती करने या अपराध करने पर सजा मिलते सुना होगा लेकिन जब एक बंदर ऐसी हरकतें करने लगे जो बर्दाश्त के बाहर हों तो क्या किया जाए कानपुर में एक ऐसा ही बंदर है जो महिलाओं को इशारे से बुलाता है पुरुषों के खाना देने पर बर्तन उठाकर फेंक देता है उसकी अय्याशी का आलम ये है कि उसे खाने में गोश्त और मांस चाहिए और पीने के लिए दारू


कालिया बंदर 



महिलाओं से करता था अश्लील हरकत

इशारें कर महिलाओं को अपने करीब बुलाता है और फिर महिलाओं और बच्चियों को काट खाता है अपने इसी स्वभाव के कारण उसे सजा दी गई है दरअसल कालिया नाम के इस बंदर की इन हरकतों की वजह से ही कानपुर के चिड़ियाघर प्रशासन ने उसे आजीवन कारावास की सजा सुनाई है. अब जब तक ये जिंदा रहेगा अपनी आखिरी सास तक पिंजड़े से बाहर नहीं निकल सकेगा चिड़िया घर प्रशासन का कहना है तीन साल से इसके स्वभाव को बदलने की कोशिश कर रहे थे लेकिन ये नहीं बदला हम इसको अभी भी छोड़ देंगे तो ये जहा भी जाएगा महिलाओं बच्चों को काटने लगेगा इसलिए हमने इसको आजीवन कारावास दिया है ये अपने जीवनभर पिंजड़े में ही रहेगा.


मिजार्पुर से पकड़ कर लाया गया था ये बन्दर

पशु चिकित्सा अधिकारी चिड़ियाघर मो. नासिर ने बताया कि तीन साल पहले इसे मिजार्पुर से पकड़ कर लाया गया था. वहां इसको एक तांत्रिक ने पाला था इसको शराब और मांस का आदी बना दिया था तांत्रिक की मौत के बाद इसने आबादी वाले इलाकों में आकर महिलाओं और बच्चियों को काटना शुरू किया.

मेडिकल रिकार्ड में इसने 250 महिलाओं और बच्चों को अपना शिकार बनाया था इसके काटने से एक बच्ची की मौत भी हो गई थी इसको हम तीन साल पहले पकड़ कर लाये थे दो दिन की मेहनत में इसको पकड़ा गया था लेकीन इसने अपना स्वभाव नहीं बदला ये आज भी मेल के खाना देने पर बर्तन फेकता है फीमेल को इशारे से बुलाकर काटने दौड़ता है.

No comments