ताजा ख़बरे

पतंजलि के दावों पर आयुष मंत्रालय की रोक,जाने किस वजह से लगी रोक ?

कोरोना वायरस के प्रकोप से पूरी दुनिया परेशान है। लेकीन अभी तक कोई भी इसकी सटीक वैक्सीन या दवा इलाज के लिए नहीं बनी है। वही मंगलवार की सुबह पतंजलि आयुर्वेद के चीफ और योग गुरु बाबा रामदेव ने कोरोना वायरस से बचाव के लिए कोरोनिल नामक आयुर्वेदिक दवा लॉन्च करते हुए दावा किया कि इससे कोरोना के मरीज ठीक हो रहे हैं। जैसे ही उनका ये ऐलान हुआ देश में खुशी की लहर देखने को मिली। लेकिन ये खुशी शाम तक ही रह पाई और आयुष मंत्रालय ने पतंजलि को दवा के प्रचार को रोकने के लिए कह दिया। इसके साथ ही रिसर्च डिटेल भी मांगी गई है।

GOOGLE

आइए जानते है कि आयुष मंत्रालय ने ऐसा क्यों किया ?

पतंजलि की कोरोना टैबलेट के मामले में आयुष मंत्रालय ने कहा है कि उसे इस दवा के बारे में साइंटिफिक स्टडी वगैरह की सूचना नहीं है। यही नहीं,रिसर्च स्‍टडी और सैम्पल साइज समेत तमाम जानकारी साझा करने को कहा है। मंत्रालय ने बाबा रामदेव की कंपनी से दवा के बारे में पूरी जानकारी उपलब्ध कराने को कहा है। पूछा है कि उस हास्पिटल और साइट के बारे में भी बताएंजहां इसकी रिसर्च हुई। वहीं उत्तराखंड सरकार से इस आयुर्वेदिक दवा के लाइसेंस आदि के बारे में जानकारी मांगी है।

GOOGLE
आयुष मंत्रालय ने अपने बयान में कहा, ‘पतंजलि आयुर्वेद लिमिटेड हरिद्वार की ओर से कोविड 19 के उपचार के लिए तैयार दवाओं के बारे मे उसे मीडिया से जानकारी मिली। दवा से जुड़े वैज्ञानिक दावे के अध्ययन और विवरण के बारे में मंत्रालय को कुछ जानकारी नहीं है। दरअसलकोरोना कोई साधारण बीमारी नहीं है और ये बिल्कुल नया वायरस है। इसकी दवा और वैक्सीन बनाने में देशभर के वैज्ञानिक जुटे हुए हैं। कोरोना महामारी के लिए दवा बनाने के लिए कंपनी को मंत्रालय से अनुमति लेनी होती है। कोई भी कंपनी बाजार में जाकर ये दावा नहीं कर सकती कि ये कोरोना की दवा है। कोई भी नई वैक्सीन या दवा के लिए सरकार कंपनियों को अनुमति देती है। उसके बाद ही वो कंपनी उस दवा को बना सकती है।

मंत्रालय ने लगाई रोक


मंत्रालय ने पतंजलि ग्रुप से कहा है कि इस दावे के परीक्षण होने तक इस दवा का प्रचार-प्रसार न करेंइसके साथ ही उत्तराखंड सरकार के सम्बंधित लाइसेंसिंग अथॉरिटी से इस प्रोडक्ट की अप्रूवल की कॉपी भी मांगी गई है। गौरतलब है कि बाबा रामदेव ने मंगलवार को कोरोना की आयुर्वेदिक दवा बनाने का दावा करते हुए कोरोनिल नाम की मेडिसिन लॉन्च की है। इस मेडिसिन के जरिए कोरोना के मरीजों को ठीक करने का दावा किया गया है।


No comments