ताजा ख़बरे

PM मोदी आज करेंगे यूपी में सवा करोड़ को रोगजार देने की शुरुआत, CM योगी आदित्यनाथ ने की सारी तैयारी


लखनऊ - वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के संक्रमण के बडने के दौर में भी उत्तर प्रदेश ने आपदा में नया अवसर तलाश लिया है। बड़ी संख्या में लौटे अप्रवासी कामगार व मजदूरों की स्किल टेस्टिंग के बाद अब उनको रोजगार देने की तैयारी है। पीएम नरेंद्र मोदी शुक्रवार को प्रदेश में एक करोड़ 25 लाख लोगों को रोजगार देने की शुरुआत करेंगे।

Google

सी एम यागी ने कर ली पूरी तैयारी

रोगजार देने की शुरुआत करने के लिये सीएम योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को टीम-11 के साथ बैठक में इसकी तैयारी को परखा। प्रदेश में शुक्रवार को कामगार व श्रमिकों को रोजगार दिया जाएगा। वही पीएम नरेंद्र मोदी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग की मदद से इस योजना का शुभारंभ करेंगे। आज सुबह 11 बजे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से होने वाले इस कार्यक्रम की हर तैयारी को टीम योगी आदित्यनाथ ने अपनी टीम के साथ परखा। सीएम योगी आदित्यनाथ इस उपलब्धि को उदाहरण के तौर पर देश के सामने लाना चाहते हैं, इसलिए 26 जून यानी आज मेगा शो आयोजित किया जा रहा है। बता दे की कोरोना वायरस संक्रमण के प्रसार के बीच लॉकडाउन के बाद यह देश का सबसे बड़ा रोजगार देने वाला कार्यक्रम है। प्रदेश में ही प्रवासियों को रोजगार देने के लिए सीएम योगी आदित्यनाथ ने अपनी टीम के साथ एक्शन प्लान तैयार किया है। इसके तहत आज पीएम नरेंद्र मोदी यूपी के सवा करोड़ लोगों को रोजगार देने के कार्यक्रम में ऑनलाइन शिरकत करेंगे। पीएम नरेंद्र मोदी इस दौरान गोरखपुर व जालौन सहित छह जिलों के लाभार्थीयों से भी बात करेंगे। इनके साथ ही कुछ श्रमिक व कामगारों से भी वह संवाद करेंगे। इस कार्यक्रम में महिलाएं भी पीएम नरेंद्र मोदी से अपना अनुभव साझा करेंगी। लॉकडाउन में उत्तर प्रदेश में ही सबसे ज्यादा प्रवासी लौटे है। इनको सरकार ट्रेन के साथ बसों से वापस लाई है।

GOOGLE

31 जिलों में रोजगार देने पर खास ध्यान

योगी आदित्यनाथ सरकार का फोकस वैसे तो सभी जिलों पर है, लेकिन 31 जिलों में श्रमिक व कामगार को रोजगार देने पर उनका विशेष ध्यान है। इस दौरान सबसे ज्यादा रोजगार प्राइवेट कंपनियों की ओर से मिलेंगे। प्राइवेट कंपनियों कंपनियों की ओर से एक लाख 25 हजार लोगों नियुक्ति पत्र मिलेंगे। कामगारों को प्रदेश की विभिन्न परियोजनाओं में काम मिलेगा। इसके साथ ही आत्मनिर्भर भारत पैकेज के तहत 2.40 लाख इकाइयों को 5900 करोड़ का ऋण मिलेगा। प्रदेश सरकार 1.11 लाख नई इकाइयों को ऋण के रूप में 3266 करोड़ प्रदान करेगी। सरकार विश्वकर्मा श्रम सम्मान और ओडीओपी योजना के तहत 5000 कामगारों को टूल किट भी प्रदान करेगी।

GOOGLE
श्रमिक को ऋण भी दिलाएगा एमएसएमई विभाग

एमएसएमई विभाग अभी तक उद्यमियों को ऋण दिलाने में ही सक्रिय भूमिका निभा रहा था। अब मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए हैं कि सरकार की योजनाओं में यदि श्रमिक-कामगार भी ऋण पाने के पात्र हों तो एमएसएमई विभाग बैंकों से समन्वय कर उन्हें ऋण दिलाए। जिससे वो अपना रोजगार स्वमं कर सके। सरकार का मानना है कि इससे स्वरोजगार और रोजगार, दोनों ही बढ़ेंगे। 

No comments