ताजा ख़बरे

प्रियंका गांधी को खाली करना होगा सरकारी बंगला जाने अब कहा रहेंगी प्रियंका गांधी ?


पीएम का प्रियंका पर वार

अगस्त तक बंगला खाली करना होगा. क्योंकि प्रियंका गांधी को एसपीजी सिक्योरिटी मिली हुई थी इसलिए ये बंगला मिला हुआ था. उनको मिली एसपीजी सिक्योरिटी पहले ही हटाई जा चुकी है. जिसके बाद सवाल यह कि प्रियंका गांधी का नया ठिकाना कहां होगा ?

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा को केंद्र सरकार ने एक औरझटका दिया है...पहले गांधी परिवार की एसपीजी सुरक्षा हटी औरप्रियंका गांधी को सरकारी बंगला खाली करने का नोटिस भेजा गयाहै.इसके लिए उन्हें एक महीने का समय दिया गया है. यानी 1 अगस्त से पहले उन्हें अपने सरकारी बंगले को खाली करना होगा. आवास और शहरी मामलों के मंत्रालय की ओर से भेजे गए नोटिस में कहा गया है कि गृह मंत्रालय के एसपीजी सुरक्षा हटाए जाने के बाद आपको जेड प्‍लस सुरक्षा दी गई है। इसमें सुरक्षा आधार पर सरकारी बंगले के आवंटन का प्रावधान नहीं है। ऐसे में लोधी एस्‍टेट का हाउस नंबर 35 का आवंटन रद्द किया जाता है। आपको एक महीने का वक्‍त दिया जा रहा है। तय वक्‍त में यदि आप बंगला खाली नहीं करती हैं तो नियमानुसार डैमेज चार्ज या पेंटल रेंट वसूला जाएगा। चिट्ठी में सरकारी बंगले के किराए के तौर पर बकाया 3,46,677 रुपये का भुगतान करने को भी कहा है। किराये का यह बकाया 30 जून 2020 तक का है।



 पिछले साल ही वापस ली गई  एसपीजी सुरक्षा कवर

बता दें कि सरकार ने प्रियंका, उनकी मां सोनिया गांधी और भाई राहुल गांधी को दी गई एसपीजी सुरक्षा कवर को पिछले साल नवंबर में वापस ले लिया था। एसपीजी सुरक्षा कवर के बदले तीनों नेताओं को जेड प्लस कैटेगरी की सुरक्षा दी गई थी। जेड प्लस कैटेगरी की सुरक्षा व्‍यवस्‍था सेंट्रल रिजर्व पुलिस फोर्स यानी सीआरपीएफ के जिम्‍मे है। यही नहीं सरकार ने पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह का एसपीजी सुरक्षा कवर भी वापस ले लिया था। मौजूदा वक्‍त में एसपीजी कमांडोज केवल पीएम मोदी की सुरक्षा में तैनात हैं। प्रियंका गांधी को बंगला खाली करने के नोटिस के बाद कांग्रेस ने मोदी सरकार पर हमला बोला है.

GOOGLE

लखनऊ में कौल हाउस मे प्रियंका का नया ठिकाना

अब आपको बताते हैं कि प्रियंका गांधी का नया ठिकाना लखनऊ होगा। दिल्ली के लोधी एस्टेट स्थित बंगला खाली करने के बाद प्रियंका गांधी दिल्ली के बजाए लखनऊ शिफ्ट कर सकती हैं. प्रियंका के करीबी सूत्रों के मुताबिक, वो बहुत जल्द लखनऊ में कौल हाउस में शिफ्ट कर जाएंगी. कौल हाउस इंदिरा गांधी की मामी शीला कौल का है. प्रियंका पार्टी पार्टी महासचिव होने के साथ-साथ यूपी की इंचार्ज भी हैं. लिहाजा उनका ये कदम बेहद सधी हुई रणनीति का हिस्सा माना जा रहा है. कोरोना संक्रमण के दौरान प्रियंका का यूपी में दौरा कम हो गया था. ऐसे में लखनऊ शिफ्ट होना राजनीतिक दृष्टि से भी अहम है।

GOOGLE
प्रियंका महासचिव बनाए जाने के बाद से यूपी में ज्यादा सक्रिय रही हैं. चाहे वो मजदूरों के ले जाने के लिए बसों के इंतजाम का मुद्दा हो या फिर सोनभद्र के किसानो के नरसंहार के बाद का आंदोलन हो. प्रियंका गांधी ने यूपी के चुनावों से पहले लखनऊ में अपना बेस बनाने का फैसला पहले ही कर लिया था. इंदिरा गांधी की मामी शीला कौल के घर कौल हाउसकी मरम्मत का काम पहले ही किया जा चुका है. लखनऊ में प्रियंका इसी घर में रहेंगी. प्रियंका के बच्चे उनके साथ शिफ्ट होंगे की नहीं, इस पर फैसला अभी नहीं किया गया है, लेकिन ये तय है कि यूपी की राजनीति में पूरी तरह सक्रिय और शामिल रहने के लिए प्रियंका लखनऊ में शिफ्ट होंगी और अपना ज्यादा वक्त यूपी के अलग-अलग जिलों में बिताएंगी. क्योंकि उत्तर प्रदेश में 2022 में विधानसभा के चुनाव हैं और वह प्रदेश में कांग्रेस की खोई हुई जमीन को वापस लाने के लिए जीन जान से लगी हुई हैं ।

No comments