ताजा ख़बरे

अयोध्या #PMMODI का आगमन, 5 अगस्त को राम मंदिर का हो सकता है भूमि-पूजन

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 5 अगस्त को अयोध्या में श्रीराम मंदिर निर्माण के भूमि पूजन में शामिल हो सकते हैं। बता दे की सूत्रों के मुताबिक प्रधानमंत्री अयोध्या में भूमिपूजन में हिस्सा ले सकते हैं। बता दे की राम मंदिर निर्माण को लेकर रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने शनिवार को बैठक की, इस बैठक में इस पर चर्चा की गई कि भूमिपूजन की तारीख क्या होगी । खबर ये भी है कि प्रधानमंत्री कार्यालय को रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्र्स्ट की ओर से 3 अगस्त और 5 अगस्त की तारीख भेजी गई है। लेकीन सूत्रों ने कहा है कि प्रधानमंत्री 5 अगस्त को अयोध्या जा आ सकते है।  लिहाजा, इसी दिन भूमि पूजन का कार्यक्रम संपन्न होने की संभावना है। वही पता चला है की प्रधानमंत्री उस दिन दिन के 11 से 1 बजे की बीच पहुंच सकते हैं. पीएमओ के सूत्रों का कहना है कि इसका पूरा प्लान लगभग तैयार कर लिया गया है।


पीएम मोदी को ट्रस्ट के अध्यक्ष नृत्यगोपाल दास ने न्यौता दिया है

वहीं संतों की ओर से हो रही मंदिर के विस्तार की मांग को भी ट्रस्ट ने गंभीरता से लिया। तय किया गया कि मंदिर का मॉडल तो विहिप का ही रहेगा, मगर भव्यता देने के लिए डिजाइन का विस्तार किया जाएगा। अब मंदिर में तीन की जगह पांच गुंबद होंगे। इससे उसकी लंबाई, चौड़ाई और ऊंचाई बढ़ जाएगी। राममंदिर के भूमिपूजन के लिए पीएम मोदी से स्वयं ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्यगोपाल दास ने न्यौता दिया है। उन्होंने कहा है कि भूमिपूजन की तारीख हमने तय करके न्यौता दिया है। अब कोरोना महामारी और देश व समाज की परिस्थिति को देखकर प्रधानमंत्री कार्यालय तारीख तय करेगा और उसी दिन भूमिपूजन होगा। वहां से प्रधानमंत्री के अयोध्या दौरे का कार्यक्रम जारी होने पर उसे सार्वजनिक किया जाएगा। 

ऐसा होगा अयोध्या का भव्य राम मंदिर

मंदिर की ऊंचाई अब 161 फीट होगी 

ट्रस्ट के सदस्य कामेश्वर चौपाल ने कहा कि फरवरी में पीएम ने अयोध्या आने की इच्छा जताई थी, लेकिन कोरोना के कारण देरी हुई। अब प्रधानमंत्री को उनकी सुविधानुसार तारीख तय करके अयोध्या आकर मंदिर के गर्भगृह में भूमिपूजन का आग्रह किया गया है। उन्होंने बताया कि मंदिर के डिजाइन में विस्तार से उसकी ऊंचाई 128 फीट से बढ़कर 161 फीट हो जाएगी। गुंबद भी तीन से बढ़ाकर पांच किऐ जाने से मंदिर और बड़ा और भव्य हो जाएगा। प्रधानमंत्री के कार्यक्रम में सीमित लोगों को बुलाने का भी निर्णय हुआ है।


10 करोड़ परिवार देंगे मंदिर निर्माण के लिए दान

ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने कहा कि चंद्रकांत सोमपुरा की टीम ही राममंदिर का निर्माण करेगी। सोमनाथ मंदिर को भी इन्हीं लोगों ने बनाया है। मंदिर निर्माण में पैसे कि कमी नहीं होगी। इसके लिए 10 करोड़ परिवार दान देंगे।


पुराने जर्जर 12 मंदिर गिराए जाएंगे 

श्री रामजन्मभूमि परिसर स्थित करीब 12 प्राचीन जर्जर मंदिरों को अब गिराया जाएगा। यह निर्णय भी ट्रस्ट की बैठक में लिया गया है। बैठक में शामिल महंत दिनेंद्र दास ने बताया कि परिसर में स्थित पौराणिक जर्जर मंदिर जिनमें 28 वर्षों से पूजा बंद है, उनको गिराने पर सहमति बन गई है। इन प्राचीन मठ-मंदिरों को ध्वस्त तो किया जाएगा, लेकिन इनमें विराजमान गर्भगृह को मंदिर परिसर में ही किसी स्थान पर स्थापित कर उनकी पूजा-अर्चना पहले की भांति प्रारंभ की जाएगी। संत समाज से भी चर्चा कर उनका मत लिया जाएगा।

No comments