ताजा ख़बरे

कानपुर - अपहरणकांड में पुलिस की बहुत बड़ी नाकामी अपहर्ताओं ने संजीत की हत्या

अपडेट

गोंडा--गोंडा से अपहरण हुआ बच्चा सकुशल बरामद STF से बदमाशों की हुई मुठभेड़ गोंडा में कारोबारी के बच्चे के अपहरण का मामला STF और पुलिस की अपहर्ताओं से मुठभेड़ 2 आरोपियों के पैर में लगी गोली  कुल 4 आरोपी गिरफ्तार अगवा हुआ बच्चा सकुशल बरामद गोंडा के करनैलगंज में हुई मुठभेड़ ।

गिरफ्तार किए गए आरोपियों में  

1 -- सूरज पांडे पुत्र राजेंद्र पांडे निवासी शाहपुर थाना परसपुर जनपद गोंडा हाल पता मुकाम सकरोरा थाना करनैलगंज जनपद गोंडा 

2 -- छवि पांडे पत्नी सूरज पांडे पता उपरोक्त 

3 -- उमेश यादव पुत्र रमाशंकर यादव निवासी सकरोड़ा पूर्वी थाना करनैलगंज जनपद गोंडा 

4 -- दीपू कश्यप पुत्र राम नरेश कश्यप निवासी सोनवारा थाना करनैलगंज जनपद गोंडा

22 जून को हुआ था संजीत का अपहरण

कानपुर के बर्रा से अपहृत लैब टेक्नीशियन की हत्या कर दी गई है, वही पुलिस के अनुसार युवक की हत्या की जा चुकी है। पुलिस अभी भी युवक की लाश की बरामदगी नहीं कर सकी है, शव की तलाश जारी है...उधर युवक की मौत की सूचना के बाद परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है । पुलिस ने मामले में 4-5  लोगों को हिरासत में लिया है,जिनमे दो लोगो ने पूरी वारदात को कबूला बता दें एक महीने से अपहरण के इस मामले में कानपुर पुलिस की लापरवाही भी सामने आई है। इस किडनैपिंग केस में पुलिस पर आरोप भी लगे हैं कि उसने अपहृत युवक के परिजनों से अपहरणकर्ताओं को 30 लाख रुपए भी दिलवाए है। 

संजीत के साथियो ने मिल के रची साजिस  

एसएसपी दिनेश कुमार ने बताया कि बर्रा थाना पर 23 जून को शिकायत दर्ज हुई थी, जिसेमें 26 को एफआईआर दर्ज की गई थी वही 29 जून को फिरौती का कॉल आया, इसे लेकर क्राइम ब्रांच और सर्विलांस सेल की टीम गठित की गई । बतादे की इस टीम ने कुछ लोगों को हिरासत में लिया है,जिसमे पता चला की अपहरण में कुछ दोस्त और संजीत के साथ अन्य पैथोलॉजी में काम कर चुके लोग भी  शामिल हैं। 




विडीयो में देखे पुरा खुलासा

26 या 27 जून को ही हत्या कर दी थी

4-5  लोगों को हिरासत में लेने के बाद उनमे से २ लोगो द्वारा कबूला गया है कि संजीत की इन्होंने 26 या 27 जून को ही हत्या कर दी थी और पांडु नदी में शव को बहा दिया हत्या के बाद सभी ने मिलकर फिरौती की मांग की थी ।वही एसएसपी ने कहा की अलग-अलग टीम गठित करके शव की तलाश की जा रही है,साथ ही मोबाइल और मोटरसाइिकल की बरामदगी के लिए भी जानकारी की जा रही है ।

जानिए कब क्या हुआ

22 जून की रात हॉस्पिटल से घर आने के दौरान संजीत का अपहरण हुआ।

23 जून को परिजनों ने जनता नगर चौकी में उसकी गुमशुदगी की तहरीर दी.

26 जून को एसएसपी के आदेश पर राहुल यादव के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज हुई.

29 जून को अपहरणकर्ता ने संजीत के परिजनों को 30 लाख की फिरौती के लिए फोन किया.

5 जुलाई को परिजनों ने शास्त्री चौक पर जाम लगाकर पुलिस पर कार्रवाई न करने का आरोप लगाया.

12 जुलाई को एसपी साउथ कार्यालय में इस बाबत दोबारा प्रार्थना पत्र दिया गया.

13 जुलाई को परिजनों ने फिरौती की रकम 30 लाख से भरा बैग गुजैनी पुल से नीचे फेंक दिया, लेकिन फिर भी संजीत नहीं आया.

14 जुलाई को परिजनों ने एसएसपी और आईजी रेंज से शिकायत की, जिसके बाद संजीत को 4 दिन में बरामद करने का भरोसा दिया गया.

16 जुलाई को बर्रा इंस्पेक्टर रंजीत राय को सस्पेंड कर सर्विलांस सेल प्रभारी हरमीत सिंह को चार्ज दे दिया गया।।

Tags - #kanpurcity #crimenews #statekidnappinginkanpur #kanpurkidnappingcase #fathercomplained #sspkanpurcrime #thirtylacsgivenkidnappers #nationalnews #uttarpradesh #knewsindia #knewslive #delhi #lucknow #knewsodisha 

No comments