ताजा ख़बरे

LIVE देखे PM मोदी रख रहे हैं मणिपुर में वाटर सप्लाई प्रोजेक्ट की आधारशिला

अपडेट - प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए मणिपुर वाटर सप्लाई प्रोजेक्ट की आधारशिला रखी....इंफाल से इस कार्यक्रम में मणिपुर की गर्वनर नजमा हेपतुल्ला, मुख्यमंत्री एन बिरेन सिंह....और उनके कैबिनेट के अन्य सदस्य, सांसद और विधायक इस कार्यक्रम में मौजूद हैं....इस मौके पर प्रधानमंत्री ने कहा कि नॉर्थ ईस्ट में देश के विकास का ग्रोथ इंजन बनने की क्षमता है....दिनों-दिन मेरा ये विश्वास इसलिए गहरा हो रहा है....क्योंकि अब पूरे नॉर्थ ईस्ट में शांति की स्थापना हो रही है...त्रिपुरा और मिज़ोरम में भी युवाओं ने हिंसा के रास्ते का त्याग किया है....अब ब्रू-रियांग शरणार्थी एक बेहतर जीवन की ओर बढ़ रहे हैं...एक तरफ जहां मणिपुर में ब्लॉकेड इतिहास का हिस्सा बन चुके हैं....वहीं असम में दशकों से चला आ रहा हिंसा का दौर थम गया है....

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज मणिपुर वाटर सप्लाई प्रोजेक्ट की आधारशिला रखेंगे, हर घर जल के मिशन को पूरा करने में यह प्रोजेक्ट अहम योगदान निभाएगा और इसका फायदा मणिपुर के लोगों को मिलेगा. पीएम मोदी सुबह 10.30 बजे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए प्रोजेक्ट का शिलान्यास करेंगे।


विकास विभाग से फंड भी शामिल

वही मणिपुर वाटर सप्लाई प्रोजेक्ट 2024 तक प्रत्येक ग्रामीण परिवार को सुरक्षित और पर्याप्त मात्रा में पेयजल उपलब्ध कराने के लिए केंद्र के जल जीवन मिशन का हिस्सा है। केंद्र ने मणिपुर को 1,42,749 घरों के साथ 1,185 बस्तियों को कवर करने के लिए घरेलू नल कनेक्शन के लिए धन प्रदान किया है।साथ ही राज्य सरकार ने धन के अतिरिक्त स्रोतों के माध्यम से शेष घरों को कवर करने की योजना बनाई है, जिसमें पूर्वोत्तर क्षेत्र विकास विभाग से फंड भी शामिल है।


पीएम मोदी ने कहा कि केंद्र की ओर से राज्य सरकार को लगातार मदद की जा रही है, राज्य सरकार कोरोना से निपटने में लगी हुई है. पीएम ने कहा कि राज्य में करीब 25 लाख लोगों को मुफ्त अनाज मिला है, डेढ़ लाख से अधिक महिलाओं को मुफ्त गैस सिलेंडर मिला है. PM ने कहा कि रोज एक लाख पानी के कनेक्शन दिए जा रहे हैं.

अपने संबोधन में प्रधानमंत्री ने भरोसा जताया कि पूर्वोत्तर में बाढ़ प्रभावित राज्यों को केंद्र की ओर से लगातार मदद की जा रही है. पीएम ने कहा कि आज के जल प्रोजेक्ट से सिर्फ आज नहीं बल्कि भविष्य की पीढ़ी को भी फायदा होने वाला है. शुद्ध पानी से सिर्फ प्यास नहीं बुझाएगा, लोगों को स्वस्थ रखने और रोजगार देने में का भी काम करेगा.

पीएम मोदी ने कहा कि पिछले साल जब जल जीवन मिशन की शुरुआत हो रही थी, तब मैंने कहा था कि हमें पहले की सरकारों के मुकाबले तेजी से काम करना होगा. हमारा लक्ष्य 15 करोड़ परिवारों तक पानी पहुंचाना था, लॉकडाउन के वक्त में भी गांव-गांव में पाइपलाइन बिछाई गई है. पीएम ने कहा कि सरकार की ओर से नागरिकों को जीवन जीने की अच्छी सुविधाएं देने का काम किया जा रहा है.


बाहरी फंड से वित्त पोषित इस परियोजना को ग्रेटर इम्फाल योजना क्षेत्र के 16 जिलों में 2,80,756 घरों को कवर करते हुए 25 कस्बों और 1,731 ग्रामीण बस्तियों में घरेलू नल कनेक्शन प्रदान करने के लिए डिजाइन किया गया है।

बता दे की सरकार ने एक बयान में कहा कि मणिपुर वाटर सप्लाई प्रोजेक्ट 2024 तक 'हर घर जल' के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए राज्य सरकार के प्रयासों का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है. परियोजना का परिव्यय न्यू डेवलपमेंट बैंक द्वारा वित्तपोषित ऋण के साथ लगभग 3,054.58 करोड़ रुपये है।

No comments