ताजा ख़बरे

कानपुर - जानिये विकास दुबे की काली लंका में क्या-क्या मिला ?

रावण कि लंका मे मिला हथियारो का जकिरा 

ढाई लाख के इनामी बदमाश विकास दुबे के घर दबिश देने गई पुलिस के हर मूवमेंट की जानकारी देने वाले पड़ोसी, नौकरानी और बहू को पुलिस ने हत्या की साजिश में शामिल होने का आरोपी पाया है।


सोमवार को पुलिस ने तीनों को गिरफ्तार कर लिया। विकास दुबे के घर से पुलिस ने तबाही और जालसाजी का सामान भी बरामद किया है


कानपुर का मोस्ट वॉन्टेड हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे की जालसाजी में किले का हर एक प्यादा शामिल था। धोखाधड़ी करने के लिए उसने घर के नौकर नौकरानी से लेकर गुर्गो तक के कई फर्जी पहचान पत्र बनवा रखे थे।



वहा पुलिस को घर से खाली राशन कार्ड भी मिले हैं। खास बात यह है कि ये राशन कार्ड गरीबी रेखा के नीचे (BPL) हैं। कहा जा रहा है कि इन खाली राशन कार्ड पर विकास दुबे अपनी मर्जी के लोगों के नाम पते लिखकर राशन कार्ड बना लेता था।


 इसके पहले पुलिस को विकास दुबे के घर से बारूद और असलहे भी मिले थे। विकास के घरवालों के नाम पर 12 लाइसेंसी हथीयार होने की बात भी सामने आई है। इन लाइसेंस को कैंसल करने की संस्तुति की गई थी लेकिन लाइसेंस कैंसल क्यों नहीं किए गए इसकी जांच की जा रही है।


 विकास दुबे के घर से तलाशी के दौरान कई कारतूस मिले हैं। लोगों का कहना है कि विकास दुबे अपने घर पर कारतूसों का जखीरा रखता था। इन चीजों की बरामदगी से विकास दुबे की आपराधिक प्रवृत्ति का अंदाजा लगाया जा सकता है।


 तलाशी के दौरान पुलिस को वायरलेस भी मिला है। बताया जा रहा है कि यह वायरलेस उसने घटना के दिन पुलिसवालों से छीन लिया था। 


विकास के ढहाए गए किले से पुलिस को उसके नौकर दयाशंकर अग्निहोत्री और नौकरानी के अलग- अलग पहचान पत्र बरामद हुए हैं। बताया जा रहा है कि इन फर्जी पहचापत्रों का प्रयोग जमीन की खरीद फरोख्त के लिए किया जाता था।



No comments