ताजा ख़बरे

हाथरस केस में,बड़ा खुलासा पीड़िता के भाई और आरोपी के बीच बातचीत, SIT को 10 दिन का और समय मिला

हाथरस केस में पुलिस की जांच में बड़ा खुलासा दोनों के बीच 100 से ज्यादा बार बात हुई

वहीं हाथरस कांड में फोन कॉल रिकॉर्ड से नया मोड़ आ गया है। एसआईटी की जांच में पता चला है कि आरोपी संदीप के फोन से पीड़िता के भाई के फोन पर लगातार बातचीत हुई थी. अक्टूबर 2019 से मार्च 2020 तक दोनों फोन के बीच 104 कॉल हुई, जिसमें से 62 कॉल आरोपी संदीप के फोन पर आई, जबकि 42 कॉल पीड़िता के भाई के फोन पर. ये खुलासा यूपी पुलिस की जांच में हुआ है. पुलिस ने आरोपी और पीड़ित परिवार के कॉल रिकॉर्ड को खंगाला तो पाया कि बातचीत का सिलसिला पिछले साल 13 अक्टूबर को शुरू हुआ. ज्यादातर कॉल चंदपा क्षेत्र से ही कई गई है, जो पीड़िता के गांव से महज 2 किमी की दूरी पर है.  इसमें से 62 कॉल वो हैं जो पीड़ित परिवार की ओर से की गई तो वहीं 42 कॉल आरोपी संदीप की ओर से की गई थी. यूपी पुलिस ने अपनी जांच में पाया कि पीड़ित परिवार और आरोपी संदीप के बीच नियमित अंतराल पर बात हुई. आरोपी संदीप को कॉल पीड़िता के भाई की ओर से की गई थी।


हाथरस केस में SIT को मिली मोहलत SIT को 10 दिन का और समय मिला

हाथरस केस की जांच कर रही स्पेशल इन्वेस्टीगेशन टीम एसआईटी को और 10 दिन की और मोहलत दी गई है. दरअसल, पूरे मामले की जांच के लिए एसआईटी को पहले सात दिन की मोहलत दी गई थी, जिसकी मियाद आज पूरी हो रही है, इस बीच एसआईटी टीम ने जांच के लिए और 10 दिन की मोहलत मांगी थी, जिसे सीएम योगी ने मंजूरी दे दी है. गृह सचिव भगवान स्वरूप की अगुवाई में तीन सदस्यीय एसआईटी बनाई गई है, जिसने अपनी जांच 1 सितंबर से शुरू की थी. एसआईटी की टीम ने पीड़िता के परिवार से बात की और बयान दर्ज किया. साथ ही चश्मदीदों के साथ बातचीत और सीन को रिक्रिएट भी किया गया. कल एसआईटी वहां गई थी, जहां पर पीड़िता का अंतिम संस्कार किया गया था. रिपोर्ट्स के अनुसार, एसआईटी ने अपनी पड़ताल के दौरान पीड़ित परिवार, अभियुक्तों, पुलिस प्रशासन समेत 100 से अधिक लोगों के बयान कलमबंद किए हैं. और अब 10 दिन और इस केस से जुड़े अहम साक्ष्य और सुबूत जुटाने का काम करेगी.. बता दें कि एसआईटी द्वारा प्रारंभिक रिपोर्ट सौंपने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हाथरस के एसपी, सीओ समेत 5 पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया था. और अब उसे जांच के लिए 10 दिन का समय और मिल गया है।

हाथरस घटना को सुप्रीम कोर्ट ने भयानक बताया

वहीं मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट ने हाथरस केस में सुनवाई की और सरकारी की दलीलों और पीड़ित पक्ष की दलीलों को सुनने के बाद सुनवाई एक हफ्ते के लिए टाल दिया, सुप्रीम कोर्ट ने हाथरस की घटना को भयानक, चौंकाने वाला और असाधारण करार दिया. कोर्ट ने इस मामले में उत्तर प्रदेश सरकार से तीन पहलुओं पर एक हलफनामा मांगा।

No comments