ताजा ख़बरे

कोरोना से जंग जारी अब बर्ड फ्लू की तैयारी सीएम योगी ने जारी किए निर्देश जानिए इस वायरस के लक्षण और बचाव के बारे में

 क्या है 'बर्ड फ्लू'

दरअसल 'बर्ड फ्लू' के नाम से जानी जाने वाली यह बीमारी एवियन इन्फ्लूएंजा वायरस एच5एन 1 के कारण होती है। ये वायरस बहुत ज्यादा खतरनाक है,ये अपनी चपेट में आए इंसानों और पक्षियों को बहुत अधिक प्रभावित करता है। बर्ड फ्लू इंफेक्शन चिकन और बत्तख की प्रजाति जैसे पक्षियों को सबसे ज्यादा प्रभावित करता है। इससे इंसान और पक्षियों की मौत तक हो सकती है इसलिए इसके प्रति काफी सावधान रहने की जरूरत है।

देश अभी कोरोना संकट जैसी महामारी से जूझ ही रहा था कि अब कई राज्यों में एक नए खतरे ने जन्म ले लिया है.. मध्य प्रदेश, केरल समेत कई राज्यों में बर्ड फ्लू ने दस्तक दी है अचानक इन राज्यों में पक्षियों की मौत हुई है जिसके बाद स्वास्थ्य विभाग अलर्ट पर है बर्ड फ्लू का सबसे अधिक असर मध्य प्रदेश में दिख रहा है.. यही कारण है कि राज्य सरकार ने प्रभावित इलाकों में अधिक सतर्कता बढ़ा दी है पहले इंदौर में कौवों की मौत के बाद हलचल मची, तो अब मंदसौर में भी ऐसे ही मामले सामने आए हैं मंदसौर, आगर मालवा इलाके में मृत कौवों में H5N8 वायरस की पुष्टि हो गई है आंकड़ों की मानें, तो 23 दिसंबर से अबतक राज्य में 400 से अधिक ऐसी पक्षियों की मौत हो चुकी है राज्य सरकार ने करीब दस जिलों में अलर्ट जारी कर दिया है साथ ही जहां सबसे अधिक खतरा है वहां की स्पेशल तैयारी है इंदौर, मंदसौर, मालवा के जिस इलाके में मृत कौवों में फ्लू के लक्षण मिले हैं, उसके एक किमी. के दायर में अब लोगों की भी जांच की जाएगी केरल में तो बड़े स्तर पर कौवों, मुर्गियों को मारना भी शुरू हो गया है. यूपी में भी सीएम योगी आदित्यनाथ ने स्वास्थ्य विभाग को किसी भी तरह के खतरे से निपटने के लिए तैयार रहने को कहा है ।


बर्ड फ्लू के लक्षण

·      बुखार

·      खांसी

·      हमेशा कफ रहना

·     नाक बहना

·     सिर में दर्द रहना

·     गले में सूजन

·     मांसपेशियों में दर्द

·     दस्त होना

·     सांस ना आना सीने में दर्द

·     जोड़ो में दर्द

इस बात की रखे सावधानियां

·    मरे हुए पक्षियों से दूर रहें अगर आपके आस-पास किसी पक्षी की मौत हो जाती है तो इसकी सूचना संबंधित विभाग को दें।

·     'बर्ड फ्लू' वाले एरिया में नॉनवेज ना खाएं जहां से नॉनवेज खरीदें।

·     सफाई का पूरा ध्‍यान रखें।

·     मास्‍क पहनकर बाहर निकलें।

·     चिकन या अंडा खाने से बचें

·     समय-समय पर अपने हाथ साबुन-पानी से धोते रहें।

·     डॉक्टर्स की सलाह के बाद इंफ्लूएंजा का टीका लगवाइए।

 

 

No comments