किन बैंकों का चेक बुक 1 अप्रैल से बदल जाएगा देखिए लिस्ट, जानिए कारण

किन बैंकों का चेक बुक 1 अप्रैल से बदल जाएगा देखिए लिस्ट, जानिए कारण

1 April 2021 से इन 8 बैंकों में बड़े बदलाव होने जा रहे हैं. बता दे आपको 1 अप्रैल से ग्राहकों के पुराने चेक, पासबुक और इंडियन फाइनेंसियल सर्विस कोड (IFSC) इनवैलिड हो जाएंगे. आइए, आपको बताते है कि किन बैंकों का चेक बुक 1 अप्रैल से बदल जाएगा. देना बैंक, विजया बैंक, ओरियंटल बैंक ऑफ कॉमर्स, यूनाइडेट बैंक ऑफ इंडिया, सिंडिकेट बैंक, आंध्रा बैंक, कॉर्पोरेशन बैंक और इलाहाबाद बैंक. इन बैंकों के पुराने चेक बुक से काम नहीं चलेगा. मर्जर के बाद अब इन बैंकों के चेक बुक 31 मार्च के बाद नहीं चलेंगे

File Photo

अगर आपका अकाउंट इन 8 सरकारी बैंकों में है तो फिर आप 1 अप्रैल से पहले अपने ब्रॉन्च एक बार जरूर होकर आ जाएं. क्योंकि 1 April 2021 से इन 8 बैंकों में ग्राहकों के पुराने चेक, पासबुक और इंडियन फाइनेंसियल सर्विस कोड (IFSC) इनवैलिड हो जाएंगे. अगर आपका खाता देना बैंक, विजया बैंक, ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स, यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया (UBI), सिंडिकेट बैंक, आंध्रा बैंक, कॉरपोरेशन बैंक और इलाहाबाद बैंक में है तो फिर आपको 1 अप्रैल के बाद परेशानी हो सकती है. क्योंकि इन बैंकों के पुराने चेकबुक का उपयोग आप नहीं कर पायेगे। दरअसल, एक अप्रैल से इन 8 बैंकों के पुराने चेक से भुगतान बंद हो जाएगा. इसलिए मार्च महीने में चेक बुक बदलवा लें, ये आठ बैंक अपने ग्राहकों को लगातार मैसेज और मेल के जरिये नया चेक बुक, पासबुक, आईएफएससी और एमआईसीआर कोड लेने की अपील भी कर रहा है.

पिछले दो वर्षों में देश के 8 सरकारी बैंकों को दूसरे सरकारी बैंकों में विलय कर दिया गया है. देना बैंक और विजया बैंक का बैंक ऑफ बड़ौदा में विलय हो गया है. ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स और यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया (UBI) का पंजाब नेशनल बैंक में विलय कर दिया है. केनरा बैंक में सिंडिकेट बैंक का विलय हो गया है. वहीं आंध्रा बैंक और कॉरपोरेशन बैंक का यूनियन बैंक ऑफ इंडिया में विलय कर दिया गया है. सरकारी बैंक इलाहाबाद बैंक का इंडियन बैंक में विलय हो गया है. हालांकि सिंडिकेट बैंक के ग्राहकों के इस मामले में थोड़ी मोहलत मिली है। केवल सिंडिकेट बैंक को छोड़कर सभी बैंकों के चेक बुक्स 31 मार्च 2021 के बाद अमान्य हो जाएंगे. सिंडिकेट बैंक के पुराने चेक 30 जून 2021 तक मान्य रहेंगे। 

मर्ज हो चुके अन्य बैंकों के ग्राहक मौजूद चेकबुक, पासबुक से केवल 31 मार्च तक ही काम चला सकेंगे. इसलिए इन 8 बैंकों के ग्राहकों को सलाह दी गई है कि वे तुरंत अपनी शाखा में जाएं और नए चेक बुक के लिए आवेदन करें. बैंकों का कहना है कि आवेदन मिलने के बाद करीब हफ्तेभर नया चेक बुक छप कर आ जाएगा. एक बार फिर आपको बता दे जिन बैंकों के पुराने चेकबुक 1 अप्रैल से इनवैलिड हो जाएंगे. उनमें देना बैंक, विजया बैंक, ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स, यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया, सिंडिकेट बैंक, आंध्रा बैंक, कॉरपोरेशन बैंक और इलाहाबाद बैंक हैं. इन बैंकों के विलय के बाद अब 31 मार्च के बाद से इनके पुराने चेकबुक नहीं चलेंगे.  

Post a Comment

0 Comments