इमरान खान की पार्टी के हमलावरो ने मस्जिद से पानी भरने से नाराज हिंदू परिवार को बंधक बनाकर पीटा,

rebellions in pakistan,improves your listening skills,military of british india,british east india company,wars involving india,learning by listening,indian rebellion of 1857,rebellions in india,moneycontrol terminal,shompadak dotcom,reduce eye strain,stock market tips,moneycontrol hindi,stocksmoneycontrol,learn while on the move,text to speech,rebellions in asia,moneycontrol live,moneycontrol share price,palestine,thevone live,1857 in india

पाकिस्तान में एक बार फिर हिंदू परिवार के उत्पीड़न की खबर सामने आई है।बतादे की एक हिंदू परिवार पर लोगों ने हमला किया और परिवार के सभी लोगों को बंधक बनाकर पीटा। यहां तक पुलिस ने भी पीड़ित की शिकायत पर कोई मुकदमा दर्ज नहीं किया। घटना पाकिस्तान के पंजाब प्रांत की है। आरोप है कि हिंदू परिवार के लोग पास की मस्जिद से पीने का पानी लेने गए हुए थे। इस पर कई लोगों ने आपत्ति जताई और उन पर मस्जिद की पवित्रता भंग करने का अरोप लगाया गया।

डॉन अखबार के हवाले से बताया गया कि पीड़ित आलम राम भील पंजाब के रहीम यार खान शहर में रहता है। उसने बताया कि जब उसके परिवार के लोग पास की मस्जिद से पानी भरने के लिए गए हुए थे। तभी कुछ लोगों ने आकर उसके साथ मारपीट शुरू कर दी। 

इमरान खान की पार्टी के थे हमलावर

पीड़ित ने बताया कि जब उसका परिवार वापस घर आया तो उन लोगों ने सभी को बंधक बना लिया और मस्जिद की पवित्रता भंग करने का आरोप लगाकर पीटने लगे। आरोप है कि पुलिस ने उसकी शिकायत पर मुकदमा नहीं दर्ज किया। क्योंकि हमलावर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की पार्टी से जुड़े हुए थे। 

पुलिस सटेशन के बाहर धरने पर बैठा परिवार 

मुकदमा न दर्ज किए जाने से नाराज हिंदू परिवार पाकिस्तान के पुलिस स्टेशन के बाहर बैठ गया। इसके बाद डिस्ट्रिक पीस कमेटी के सदस्य पीटर जॉन भील की मदद से उसकी शिकायत दर्ज की गई। पुलिस अधिकारी असद सरफराज का कहना है कि वह इस मामले की जांच कर रहे हैं। 

75 लाख हिंदू रहते हैं पाकिस्तान में 

पाकिस्तान में हिंदू सबसे बड़े अल्पसंख्यक समुदाय में से एक हैं। आंकड़ों की मानें तो करीब 75 लाख हिंदू पाकिस्तान में रह रहे हैं। हालांकि, अल्पसंख्यकों का कहना है कि उनकी आबादी 90 लाख के करीब है। ज्यादातर हिंदू परिवार सिंध प्रांत में रहते हैं। जहां से अक्सर उनके साथ मारपीट, उत्पीड़न की खबरें आती रहती हैं। 

Post a Comment

0 Comments