नवरात्रि महाष्टमी आज और महानवमी कल, जानिए शुभ मुहूर्त व चौघड़िया मुहूर्त, पढ़े पूरी विधि

shardiya navratri 2021 ashtami,ashtami vrat shardiya navratri 2021,when is shardiya navratri in 2021,shardiya navratri ashtami kab hai,shardiya navratri 2021 end date,shardiya navratri durga visarjan 2021,shardiya navratri 2021,#shardiya navratri 2021,shardiya navratri 2021 kab hai,shardiya navratri kab hai 2021,shardiya navratri 2021 kab se hai,shardiya navratri kab se hai 2021,shardiya navratri kab hai 2021 me,shardiya navratri 2021 kab se shuru hai

Navratri 2021:नवरात्रि में कन्या पूजन करना बहुत शुभ माना गया है। विशेष रूप से देवी उपासना के इन पावन दिनों में किसी भी दिन कन्या पूजन कर पुण्य प्राप्त किया जा सकता है परंतु अष्टमी और नवमी के दिन कन्याओं का पूजन करना और भी फलदाई माना गया है। इस बार अष्टमी तिथि 13 अक्टूबर और नवमी तिथि 14 अक्टूबर की पड़ रही है। आम तौर पर ज्यादातर घरों में अष्टमी का पूजन किया जाता है और नवमी के दिन कन्या भोज किया जाता है। इसी दिन विसर्जन किया जाता है।

shardiya navratri 2021 ashtami,ashtami vrat shardiya navratri 2021,when is shardiya navratri in 2021,shardiya navratri ashtami kab hai,shardiya navratri 2021 end date,shardiya navratri durga visarjan 2021,shardiya navratri 2021,#shardiya navratri 2021,shardiya navratri 2021 kab hai,shardiya navratri kab hai 2021,shardiya navratri 2021 kab se hai,shardiya navratri kab se hai 2021,shardiya navratri kab hai 2021 me,shardiya navratri 2021 kab se shuru hai

जाने किस रूप की पूजा से क्या मिलता है फल

दुर्गा सप्तशती में कहा गया है कि दुर्गा पूजन से पहले भी कन्या का पूजन करें , तत्पश्चात ही माँ दुर्गा का पूजन आरम्भ करें। नवरात्रि के नौ दिनों में कन्या पूजन में इस बात का विशेष ध्यान रखना चाहिए कि कन्याओं की उम्र दो वर्ष से कम और दस वर्ष से अधिक न हो। दो वर्ष की कन्या अर्थात कुमारी रूप के पूजन से सभी तरह के दुखों और दरिद्रता का नाश होता है। भगवती त्रिमूर्ति के पूजन से धन लाभ होता है।

shardiya navratri 2021 ashtami,ashtami vrat shardiya navratri 2021,when is shardiya navratri in 2021,shardiya navratri ashtami kab hai,shardiya navratri 2021 end date,shardiya navratri durga visarjan 2021,shardiya navratri 2021,#shardiya navratri 2021,shardiya navratri 2021 kab hai,shardiya navratri kab hai 2021,shardiya navratri 2021 kab se hai,shardiya navratri kab se hai 2021,shardiya navratri kab hai 2021 me,shardiya navratri 2021 kab se shuru hai

1. अष्टमी तिथि-

हिंदू पंचांग के अनुसार, आश्विन मास के शुक्ल पक्ष 12 अक्टूबर, दिन मंगलवार को रात 09 बजकर 49 मिनट से प्रारंभ होकर 13 अक्टूबर 2021, बुधवार को रात 08 बजकर 09 मिनट पर समाप्त होगी। अष्टमी का पूजन 13 अक्टूबर, बुधवार को किया जाएगा।

अष्टमी तिथि के शुभ मुहूर्त-

पूजा के मुहूर्त : अमृत काल- 03:23 AM से 04:56 AM

ब्रह्म मुहूर्त– 04:48 AM से 05:36 AM तक है।

दिन का चौघड़िया :

लाभ – 06:26 AM से 07:53 PM तक।

अमृत – 07:53 AM से 09:20 PM तक।

शुभ – 10:46 AM से 12:13 PM तक।

लाभ – 16:32 AM से 17:59 PM तक।

रात का चौघड़िया :

शुभ – 19:32 PM से 21:06 PM तक।

अमृत – 21:06 PM से 22:39 PM तक।

लाभ (काल रात्रि) – 03:20 PM से 04:53 PM तक।

2. महानवमी तिथि-

नवमी तिथि 13 अक्टूबर को रात 08 बजकर 07 मिनट से प्रारंभ होगी और 14 अक्टूबर को रात 06 बजकर 52 मिनट पर शुरू होगी।

Post a Comment

0 Comments