लखीमपुर कांड का मुख्य आरोपी आशीष मिश्रा 12 घंटे की पूछताछ के बाद गिरफ्तार

ashish mishra,ashish mishra arrested,ajay mishra,ashish mishra lakhimpur,ashish mishra viral video,ashish mishra news,ashish mishra peshi,ashish mishra lakhimpur video,ashshi mishra arrested,ajay mishra son ashish mishra,ashish mishra teni,fir on ashish mishra,ashish mishra lakhimpur fir,ashish mishra latest,ajay mishra son,ashish mishra in lakhimpur kheri,ashish mishra surrender,ashish mishra surrender news,ashish mishra to be arrested soon

Ashish Mishra Arrested - लखीमपुर खीरी कांड में नामजद अभियुक्त केंद्रीय गृह राज्यमंत्री के पुत्र आशीष मिश्रा को शनिवार रात 10:50 बजे गिरफ्तार कर लिया गया। बतादे उन्हें 12 घंटे की लंबी पूछताछ के बाद गिरफ्तार किया गया। शासन द्वारा बनाई गई विशेष पर्यवेक्षण समिति के डीआईजी उपेंद्र अग्रवाल ने पुलिस लाइन स्थित क्राइम ब्रांच के कार्यालय के बाहर आकर गिरफ्तारी की पुष्टि की। उन्होंने बताया कि लंबी पूछताछ के बाद हमने पाया कि आशीष मिश्रा सहयोग नहीं कर रहे, विवेचना में कई बातें बताना नहीं चाहते। इसलिए हम उन्हें गिरफ्तार कर रहे हैं, उन्हें कोर्ट में पेश किया जाएगा।

जाने आशीष से क्या सवाल किए गए

mkhabar के सूत्रों से मिली जानकारी  के मुताबिक़ SIT के इन 15 सवालों के आशीष ने दिए ये जवाब*

*1- हिंसा के समय तुम कहां थे?
जवाब - दंगल में।
*2- प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि हिंसा के समय तुम घटनास्थल पर ही एक वाहन में थे। तुम्हारे काफिले में कितने वाहन थे?*
जवाब- मैं दंगल में ही था। काफिले में कौन कार्यकर्ता थे मालूम नहीं।
*3- तुम्हारे वाहन में और कौन-कौन लोग बैठे हुए थे?*
जवाब- चालक हरिओम था। उसके साथ और कौन था मुझे नहीं मालूम, हम तो दंगल में थे।
*4- जिस वाहन में तुम थे, वह किसका था?*
जवाब- थार मेरी थी, लेकिन मैं उसमें नहीं था। एक ही बात कितनी बार पूछेंगे।
*5- वाहन में तुम किधर बैठे थे? वाहन को कौन चला रहा था?
जवाब- मुझे नहीं मालूम, मैं नहीं था बस।
*6- जब तुम्हारा वाहन घटनास्थल पर पहुंचा तो भीड़ कितनी थी?*
जवाब- आप लाख बार पूछ लीजिए हम एक ही जवाब देंगे घटनास्थल पर हम मौजूद नहीं थे। वहां क्या हुआ कुछ नहीं पता। जो जानकारी हुई बाद में हुई।
*7- भीड़ सड़क पर क्या कर रही थी? क्या भीड़ तुम्हारे वाहनों का रास्ता रोक रही थी?*
जवाब- पता नहीं।
*8- जब पहला आदमी वाहन से टकराया तो वाहन रोका क्यों नहीं?*
जवाब- मैं होता तो गाड़ी रोकता। जब था ही नहीं तो कैसे रोकता। चालक ने ऐसा किन परिस्थितियों में किया पता नहीं।
*9- तुम्हारे पास लाइसेंसी हथियार है या नहीं है? तुम्हारे साथ वाहन में किस-किस के पास लाइसेंसी हथियार थे?*
जवाब- नहीं पता।
*10- फायरिंग की आवाज वाहनों से कैसे आ रही थी?*
जवाब- उत्तर हमको नहीं पता, बार-बार एक ही सवाल क्यों पूछ रहे आप लोग।
*11- सोशल मीडिया पर कई वीडियो हैं जो घटनास्थल पर तुम्हारी उपस्थिति साबित कर रहे हैं?*
जवाब- गलत हैं, मैंने जो वीडियो दिए वो सही हैं। घटना स्थल पर मैं नहीं था।
*12- अगर यदि घटनास्थल पर नहीं थे तो FIR होने के बाद तुम अंडरग्राउंड क्यों हुए? नोटिस जारी होने के बाद भी पेश क्यों नहीं हुए?*
जवाब- मैं दिल्ली में था और मीडिया से भी लगातार बात कर रहा था। पहले नोटिस की जानकारी समय से नहीं हुई। थोड़ी तबीयत भी ठीक नहीं थी। जानकारी होते ही आज इसलिए समय से पहले पेश हुआ।
*13- तुम किस आधार पर दावा करते हो कि हिंसा के दौरान तुम घटनास्थल पर नहीं थे?*
जवाब- दंगल के कार्यक्रम और गांव के वीडियो फुटेज और गांव वालों के हलफनामा इसके सबूत है। आप लोग इसकी जांच करा सकते हैं।
*14- तुम घटनास्थल पर न होने के दावे के समर्थन में जो वीडियो दिखा रहे हो, उनकी सत्यता का आधार क्या है?*
जवाब- सभी सही हैं। आप फॉरेंसिक जांच करा सकते हैं या भौतिक सत्यापन। जिससे साफ हो जाएगा कि मैं गांव पर था।
*15- तुम्हारे दावे और उपलब्ध कराए गए साक्ष्य पर पुलिस भरोसा क्यों करे, जब तुमने अब तक कोई सहयोग हीं नहीं किया?*
जवाब- पुलिस ने जैसे ही बुलाया मैं हाजिर हो गया। साथ ही जब भी मेरे सहयोग की जरूरत पड़ेगी दूंगा। मैं कोई अपराधी नहीं हूं। एक राजनेता का बेटा और मेरा खुद का व्यवसाय है।

समय से पहले क्राइम ब्रांच के दफ्तर पहुंच गया था आशीष

शनिवार की सुबह 11 बजे आशीष मिश्र मोनू को पुलिस लाइन स्थित क्राइम ब्रांच के दफ्तर में पेश होना था, लेकिन वह तय समय से पहले ही 10 बजकर 38 मिनट पर पिछले रास्ते से पुलिस लाइन पहुंच गए। उनके साथ दो वकील अवधेश सिंह और अवधेश दुबे भी क्राइम ब्रांच के दफ्तर में दाखिल हुए। इस दौरान देर रात तक आशीष मिश्र से पूछताछ चली और करीब 12 घंटे की पूछताछ के बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया।

Post a Comment

0 Comments