मनीष गुप्ता हत्याकांड: फरार एक-एक लाख के इनामी आरोपित इंस्पेक्टर जेएन सिंह और दरोगा अक्षय मिश्रा गिरफ्तार

manish gupta, manish gupta murder, manish gupta murder case, manish gupta gorakhpur murder case news, manish gupta gorakhpur, kanpur manish gupta murder case, manish gupta hatyakand, manish gupta murder case news, manish gupta gorakhpur up news, manish gupta case, manish gupta kanpur case, kanpur manish gupta case, manish gupta kanpur, manish gupta gorakhpur news, manish gupta death case, manish gupta news, manish gupta police beating, gorakhpur manish gupta murder case


गोरखपुर के होटल में कानपुर के व्यापारी मनीष गुप्ता हत्याकांड के मामले में फरार एक-एक लाख के इनामी मुख्य आरोपित इंस्पेक्टर जेएन सिंह और दरोगा अक्षय मिश्रा को रविवार की शाम रामगढ़ताल क्षेत्र से गोरखपुर पुलिस ने गिरफ्तार किया। दोनों आरोपितों से रामगढ़ताल और क्राइम ब्रांच की टीम पूछताछ कर रही है। पूछताछ के बाद जल्द ही उन्हें कानपुर एसआइटी के हवाले कर दिया जाएगा। वही अन्य आरोपितों की तलाश में गोरखपुर के साथ ही कानपुर जिले की पुलिस छापेमारी कर रही है. इससे पहले गोरखपुर पुलिस की आठ टीमें आरोपित छह पुलिसवालों की तलाश में लगी थी। दो मुख्य आरोपितों की गिरफ्तारी के साथ ही अन्य पर भी भारी दबाव बनाया जा रहा है। वहीं एक आरोपित विजय यादव ने हाईकोर्ट में सरेंडर की अर्जी डाली है। इंस्पेक्टर जेएन सिंह और अक्षय मिश्रा की गिरफ्तारी की एसएसपी डा. विपिन ताडा ने पुष्टि की है। पुलिस के मुताबिक कानपुर व्यापारी मनीष गुप्ता की हत्या के मामले में फरार आरोपी इंस्पेक्टर जगत नारायन सिंह (जेएन सिंह) चौकी इंचार्ज अक्षय मिश्रा कोर्ट में सरेंडर करने की फिराक में गोरखपुर आए थे। आरोपित पुलिसकर्मियों के खिलाफ एक-एक लाख रुपये का इनाम घोषित था। दरोगा अक्षय मिश्रा के बाराबंकी के स्थित घर में रविवार को एक बार फिर से एसआईटी की टीम ने छापा मारा था, लेकिन वह वहा नहीं मिली था। 

फरार पुलिस कर्मियों की गिरफ्तारी के लिए फोटो को भी सोशल मीडिया पर वायरल किया गया था। डीसीपी के मुताबिक आरोपितों के बारे में सूचना देने वाले की पहचान गोपनीय रखी जाएगी और उसकी सुरक्षा का जिम्मा भी कमिश्नरेट पुलिस लेगी। बताया जा रहा है कि मनीष गुप्ता की मौत के आरोपित इंस्पेक्टर जेएन सिंह, चौकी इंचार्ज रहे अक्षय मिश्रा कोर्ट में हाजिर होने की फिराक में थे। जानकारी के मुताबिक कानपुर और गोरखपुर पुलिस का गिरफ्तारी के लिए बढ़ते दबाव के बीच इंस्पेक्टर जेएन सिंह ने गोरखपुर के कई बड़े अधिवक्ताओं से संपर्क साधा था। हालांकि कुछ ने केस लड़ने से मना भी कर दिया था।

बता दे आपको कारोबारी मनीष गुप्ता की 27 सितंबर की रात में मौत हो गई थी। आरोप है कि होटल कृष्णा पैलेस में चेकिंग करने गए इंस्पेक्टर जेएन सिंह, अक्षय मिश्रा, विजय यादव समेत छह पुलिस वालों की पिटाई से मनीष की मौत हुई थी। इस मामले में रामगढ़ताल थाने में हत्या का केस भी दर्ज है। इसकी जांच कानपुर एसआईटी कर रही है और जांच में पिटाई से मौत का मामला भी साफ हो चुका है। आरोपितों पर एक-एक लाख रुपये का इनाम भी घोषित कर दिया गया है।

manish gupta, manish gupta murder, manish gupta murder case, manish gupta gorakhpur murder case news, manish gupta gorakhpur, kanpur manish gupta murder case, manish gupta hatyakand, manish gupta murder case news, manish gupta gorakhpur up news, manish gupta case, manish gupta kanpur case, kanpur manish gupta case, manish gupta kanpur, manish gupta gorakhpur news, manish gupta death case, manish gupta news, manish gupta police beating, gorakhpur manish gupta murder case


Tags : मनीष गुप्ता हत्याकांड, मनीष गुप्ता, up का मनीष गुप्ता हत्याकांड, मनीष गुप्ता मर्डर केस, मनीष गुप्ता प्रॉपर्टी डीलर कानपुर, मनीष गुप्ता गोरखपुर पुलिस होटल, मनीष गुप्ता हत्या, मनीष गुप्ता केस, मनीष गुप्ता से खास मुलाकात, मनीष गुप्ता गोरखपुर, युवा व्यवसायी मनीष गुप्ता की मौत, पुलिसिया नृंशसता का शिकार बने मनीष गुप्ता, manish gupta, manish gupta murder, manish gupta murder case, manish gupta gorakhpur murder case news, manish gupta gorakhpur, kanpur manish gupta murder case, manish gupta hatyakand, manish gupta murder case news, manish gupta gorakhpur up news, manish gupta case, manish gupta kanpur case, kanpur manish gupta case, manish gupta kanpur, manish gupta gorakhpur news, manish gupta death case, manish gupta news, manish gupta police beating, gorakhpur manish gupta murder case

Post a Comment

0 Comments